क्रिकेट में इस वक्त कई फॉर्मेट आ गए हैं। टी-20 से लेकर टी 10 फॉर्मेट तक क्रिकेट में आ चुका है। आज भी

असली क्रिकेट टेस्ट क्रिकेट को ही कहा जाता है क्योंकि यहां पर उस खिलाड़ी का पूरी तरह से टेस्ट होता है। उस

खिलाड़ी की मानसिक क्षमता, तकनीकी क्षमता हर चीज का टेस्ट सिर्फ टेस्ट क्रिकेट में ही होता है। यही वजह है कि

जब टेस्ट क्रिकेट में कोई रन बनाता हैं तो उसकी तारीफ होती है और उसे असली खिलाड़ी माना जाता है। इस

आर्टिकल में हम टेस्ट क्रिकेट इतिहास के उन खिलाड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाएं हैं।